Ut Jaag Pathik Bhor Bhaee उठ जाग पथिक भोर भई उठ जाग पथिक भोर भई, अब रैन कहाँ जो तू सोवत है जो जागत है…