Tag Archives: Shree Krishna Bhajan Lyrics

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye

Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए। जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥ जब गिरते हुए मैंने तेरे नाम लिया है। तो गिरने ना दिया तूने, मुझे थाम लिया
ज़रा इतना बता दे कान्हा तेरा रंग काला क्यों Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun

Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun

ज़रा इतना बता दे कान्हा तेरा रंग काला क्यों Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun ज़रा इतना बता दे कान्हा, तेरा रंग काला क्यों। तू काला होकर भी जग से निराला क्यों॥मैंने काली रात को जन्म लिया। और काली गाय का दूध पीया। मेरी
मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re

Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re

मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । मत कर तू अभिमान ॥ तेरे जैसे लाखों आये, लाखों इस माटी ने खाए । रहा ना नाम निशान रे बंदे, मत
Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re वो काला एक बांसुरी वाल सुध बिसरा गया मोरी रे

Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re

Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re वो काला एक बांसुरी वाल सुध बिसरा गया मोरी रे वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे । माखन चोर वो नंदकिशोर जो, कर गयो मन की चोरी रे ॥ सुध बिसरा गया मोरी रे ... पनघट पे
मेरो मन अनत कहाँ सुख पावे - Mero Mann Anat Kahan Sukh Paave

Mero Mann Anat Kahan Sukh Paave

मेरो मन अनत कहाँ सुख पावे Mero Mann Anat Kahan Sukh Paave मेरो मन अनत कहाँ सुख पावे जैसे उड़ी जहाज को पंछी,पुनि जहाज पे आवे मेरो मन अनत कहाँ..अनत कहाँ सुख पावे कमल नयन कौ छाड़ि महातम और देव को ध्यावे परम गंग को छाड़ि
Hori Khelat Hai Girdhari होरी खेलत हैं गिरधारी

Hori Khelat Hai Girdhari

Hori Khelat Hai Girdhari होरी खेलत हैं गिरधारी होरी खेलत हैं गिरधारी। मुरली चंग बजत डफ न्यारो। संग जुबती ब्रजनारी॥ चंदन केसर छिड़कत मोहन अपने हाथ बिहारी। भरि भरि मूठ गुलाल लाल संग स्यामा प्राण पियारी। गावत
Mai Toh Prem Deewani Mero Dard Na Jaanai Koye मैं तो प्रेम-दिवानी मेरो दरद न जाणै कोय

Mai Toh Prem Deewani Mero Dard Na Jaanai Koye

Mai Toh Prem Deewani Mero Dard Na Jaanai Koye मैं तो प्रेम-दिवानी मेरो दरद न जाणै कोय हे री मैं तो प्रेम-दिवानी मेरो दरद न जाणै कोय। घायल की गति घायल जाणै जो कोई घायल होय। जौहरि की गति जौहरी जाणै की जिन जौहर होय। सूली ऊपर
Umariya Dhoke Mey Khoye Diyo Re उमरिया धोखे में खोये दियो रे

Umariya Dhoke Mey Khoye Diyo Re

Umariya Dhoke Mey Khoye Diyo Re उमरिया धोखे में खोये दियो रे उमरिया धोखे में खोये दियो रे। धोखे में खोये दियो रे। पांच बरस का भोला-भाला बीस में जवान भयो। तीस बरस में माया के कारण, देश विदेश गयो। उमर सब धोखे में
Kinu Sang Khelun Holi Piya Taj Gaye Hai Akeli

Kinu Sang Khelun Holi Piya Taj Gaye Hai Akeli

Kinu Sang Khelun Holi Piya Taj Gaye Hai Akeli किणु संग खेलूं होली, पिया तज गए हैं अकेली किणु संग खेलूं होली, पिया तज गए हैं अकेली माणिक मोती सब हम छोड़े, गल में पहनी सेली भोजन भवन बलो नहीं लागे, पिया कारण भई रे अकेली, मुझे दूरी
Aikli Khadi Re Meera Bai Aikli Khadi

Aikli Khadi Re Meera Bai Aikli Khadi

Aikli Khadi Re Meera Bai Aikli Khadi ऐकली खड़ी रे मीरा बाई एक्ली खड़ी ओ हो ऐकली खड़ी रे मीरा बाई एक्ली खड़ी ओ हो मोहन आओ तो सही गिरधर आओ तो सही माधव रे मंदिर में मीरा बाई ऐकली खड़ी थे केहवो तो सांवरा मैं मोर मुकुट बन जाऊं पेहरण
96 queries in 3.654 seconds.