Haribhakti with Bhajans

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Aate Hai - जब कोई नहीं आता मेरे श्याम आते हैं

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Aate Hai

जब कोई नहीं आता , मेरे श्याम आते हैं Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Aate Hai मेरे दुःख के दिनों में वो , बड़े काम आते हैं जब कोई नहीं आता , मेरे श्याम आते हैं | मेरी नैया चलती है , पतवार नहीं होती किसी और की अब मुझको , दरकार नहीं
ओ भगवान को भजने वाले O Bhagwan Ko Bhajnewale

O Bhagwan Ko Bhajnewale

ओ भगवान को भजने वाले O Bhagwan Ko Bhajnewale ओ भगवान को भजने वाले धर ले मन में ध्यान भाव बिनु मिले नहीं भगवान दुर्योधन की छोड़ी मेवा विदुरानी की भा गयी सेवा श्रध्हा और समर्पण से ही रीझै है भगवान भाव बिनु मिले
राधे राधे बोल श्याम भागे चले आयंगे, Radhe Radhe Bol Shyam Bhaage Chale Aayenge

Radhe Radhe Bol Shyam Bhaage Chale Aayenge

राधे राधे बोल श्याम भागे चले आयंगे Radhe Radhe Bol Shyam Bhaage Chale Aayenge राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे। एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥ सात स्वर्ग पांच अपवर्ग ठुकरायेंगे । बैकुंठ की भी कम्मना ना उर लायेंगे
मुख देखन हों आई लाल को - Mukh Dekhan Ho Aayi Lal Ko

Mukh Dekhan Ho Aayi Lal Ko

मुख देखन हों आई लाल को Mukh Dekhan Ho Aayi Lal Ko मुख देखन हों आई लाल को। मुख देखन हों आई लाल को। काल मुख देख गई दधि बेचन जात ही गयो बिकाई ॥१॥ दिन ते दूनों लाभ भयो घर काजर बछिया जाई। आई हों धाय थंभाय साथ की मोहन देहो
वृंदावन का मोर बनू गाऊ मैं तो राधे राधे Vrindavan ka Mor Banu Gaun Main to Radhe Radhe

Vrindavan ka Mor Banu Gaun Main to Radhe Radhe

वृंदावन का मोर बनू गाऊ मैं तो राधे राधे Vrindavan ka Mor Banu Gaun Main to Radhe Radhe वृंदावन का मोर बनू, गाऊ मैं तो राधे राधे । मोर बनइयो तो बनइयो वृन्दावन का नाच नाच श्याम को रिझाऊ, गाऊ में तो राधे राधे॥ कोयल बनइयो तो
तेरे लाला ने माटी खाई जसोदा सुन माई Tere Lala Ne Maati Khayi, Jashoda Sun Maayi

Tere Lala Ne Maati Khayi, Jashoda Sun Maayi

तेरे लाला ने माटी खाई जसोदा सुन माई Tere Lala Ne Maati Khayi, Jashoda Sun Maayi तेरे लाला ने माटी खाई जसोदा सुन माई। अद्भुत खेल सखन संग खेलो, छोटो सो माटी को ढेलो, तुरत श्याम ने मुख में मेलो, याने गटक गटक गटकाई॥ दूध दही को
मेरी लगी श्याम संग प्रीत, ये दुनिया क्या जाने Meri Lagi Shyam Sang Preet, Yeh Duniya Kya Jaane

Meri Lagi Shyam Sang Preet, Yeh Duniya Kya Jaane

मेरी लगी श्याम संग प्रीत, ये दुनिया क्या जाने Meri Lagi Shyam Sang Preet, Yeh Duniya Kya Jaane मेरी लगी श्याम संग प्रीत.. ये दुनिया क्या जाने... मुझे मिल गया मन का मीत.. ये दुनिया क्या जाने... छवि देखी मैंने श्याम की जब से.. भई बांवरी
मेरा मन पंछी ये बोले उर बृन्दाबन जाऊँ Mera Mann Panchi Ye Bole

Mera Mann Panchi Ye Bole

मेरा मन पंछी ये बोले उर बृन्दाबन जाऊँ Mera Mann Panchi Ye Bole मेरा मन पंछी ये बोले उर बृन्दाबन जाऊँ, बृज की लता पता में मैं राधे-राधे गाऊँ, मैं राधे-राधे गाऊँ श्यामा-श्यामा गाऊँ, बृंदाबन के महिमा प्यारे कोई
Sukhi Base Sansar Sab Dukhiya Rahe Na Koye सुखी बसे संसार सब दुखिया रहे न कोय

Sukhi Base Sansar Sab Dukhiya Rahe Na Koye

Sukhi Base Sansar Sab Dukhiya Rahe Na Koye सुखी बसे संसार सब दुखिया रहे न कोय सुखी बसे संसार सब दुखिया रहे न कोय । यह अभिलाषा हम सब की , भगवन पूरी होय ।। विद्या बुध्दि तेज बल सबके भीतर होय । दूध पूत धन-धान्य से वंचित रहे न
मीठे रस से भरी रे राधा रानी लागे Meethe Ras Se Bhari Radha Rani Laage

Meethe Ras Se Bhari Radha Rani Laage

मीठे रस से भरी रे राधा रानी लागे Meethe Ras Se Bhari Radha Rani Laage मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे, मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे | यमुना मैया कारी कारी राधा गोरी गोरी | वृन्दावन में धूम मचावे बरसाना री छोरी
Patthar Ki Radha Rani Patthar Ke Krishna Murari, पत्थर की राधा रानी पत्थर के कृष्ण मुरारी

Patthar Ki Radha Rani Patthar Ke Krishna Murari

पत्थर की राधा रानी पत्थर के कृष्ण मुरारी Patthar Ki Radha Rani Patthar Ke Krishna Murari पत्थर के कृष्णा मुरारी पत्थर की राधा प्यारी पत्थर से पत्थर घिसकर पैदा होती चिंगारी पत्थर की नारी अहिल्या पथ से श्री राम ने तारी
कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े Kabhi Kabhi Bhagwaan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade

Kabhi Kabhi Bhagwaan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade

कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े Kabhi Kabhi Bhagwaan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े । जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े ॥ अवध छोड़ प्रभु वन को धाये, सिया राम लखन गंगा तट आये । केवट
राधा का नाम अनमोल बोलो राधे राधे Radha ka Naam Anmol Bolo Radhe Radhe

Radha ka Naam Anmol Bolo Radhe Radhe

राधा का नाम अनमोल बोलो राधे राधे Radha ka Naam Anmol Bolo Radhe Radhe राधा को नाम अनमोल बोलो राधे राधे । श्यामा को नाम अनमोल बोलो राधे राधे ॥ ब्रह्मा भी बोले राधे, विष्णु भी बोले राधे । शंकर के डमरू से आवाज़ आवे राधे
तेरे मन में राम तन में राम रोम रोम में राम रे Tere Man Mein Raam, Tan Mein Raam, Rom Rom Mein Raam Re

Tere Man Mein Raam, Tan Mein Raam, Rom Rom Mein Raam Re

तेरे मन में राम तन में राम रोम रोम में राम रे Tere Man Mey Ram, Tan Mey Ram, Rom Rom Mey Ram Re दोहा: राम नाम की लूट है, लूट सके तो लूट । अंत समय पछतायेगा, जब प्राण जायेंगे छूट ॥ तेरे मन में राम, तन में राम, रोम रोम में राम रे, राम
न जी भर के देखा ना कुछ बात की - Na Jee Bhar Ke Dekha Naa Kuch Baat Ki

Na Jee Bhar Ke Dekha Naa Kuch Baat Ki

न जी भर के देखा ना कुछ बात की Na Jee Bhar Ke Dekha Naa Kuch Baat Ki ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की, बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की। करो दृष्टि अब तो प्रभु करुना की, बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥ गए जब से मथुरा वो मोहन मुरारी, सभी
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye

Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए Kishori Kuch Aisa Intezaam Ho Jaaye Juba Pe Radha Naam Ho Jaaye किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए। जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥ जब गिरते हुए मैंने तेरे नाम लिया है। तो गिरने ना दिया तूने, मुझे थाम लिया
ज़रा इतना बता दे कान्हा तेरा रंग काला क्यों Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun

Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun

ज़रा इतना बता दे कान्हा तेरा रंग काला क्यों Zara Itna Batade Kanha Tera Rang Kaala Kyun ज़रा इतना बता दे कान्हा, तेरा रंग काला क्यों। तू काला होकर भी जग से निराला क्यों॥मैंने काली रात को जन्म लिया। और काली गाय का दूध पीया। मेरी
मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re

Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re

मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । Mat Kar Tu Abhimaan Re Bande Jhooti Teri Shaan Re मत कर तू अभिमान रे बंदे, झूठी तेरी शान रे । मत कर तू अभिमान ॥ तेरे जैसे लाखों आये, लाखों इस माटी ने खाए । रहा ना नाम निशान रे बंदे, मत
Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re वो काला एक बांसुरी वाल सुध बिसरा गया मोरी रे

Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re

Vo Kaala Ek Baansuri Wala Sudh Bisra Gaya Mori Re वो काला एक बांसुरी वाल सुध बिसरा गया मोरी रे वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे । माखन चोर वो नंदकिशोर जो, कर गयो मन की चोरी रे ॥ सुध बिसरा गया मोरी रे ... पनघट पे
दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे - Darshan Do Ghansyam Naath Mero Akhiyan Pyasi Re

Darshan Do Ghansyam Naath Mero Akhiyan Pyasi Re

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे Darshan Do Ghansyam Naath Mero Akhiyan Pyasi Re दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे | मन मंदिर की जोत जगा दो, घाट घाट वासी रे || मंदिर मंदिर मूरत तेरी, फिर भी न दीखे सूरत तेरी
95 queries in 4.702 seconds.