Mere Ghar Jo Bhi Hai Diya Hua Hai Shyam Ka

Mere Ghar Jo Bhi Hai Diya Hua Hai Shyam Ka

मेरे घर में जो भी है दिया हुआ है श्याम का

ना मेरी तकदीर का
ना सारे जहान का
मेरे घर में जो कुछ भी है
दिया हुआ है श्याम का …

दबी पड़ी है झोपड़ी
कान्हा के एहसान से
भरा पड़ा है घर मेरा
कान्हा के सामान से
रोम रोम मेरा कर्जदार है
कान्हा के एहसान है
मेरे घर में जो कुछ भी है
दिया हुआ है श्याम का …

ना मेरी तकदीर का
ना सारे जहान का
मेरे घर में जो कुछ भी है
दिया हुआ है श्याम का

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Share on TumblrPin on PinterestEmail this to someoneShare on RedditDigg thisShare on StumbleUpon

Leave Your Comment