इस्लाम अधर्म की दरिंदगी पे महानतम लोगो की राय

महानतम लोगो ने कहा मुस्लिम अधर्म दरिंदो का अधर्म है

Islam is based on hating Hindus, Vedic cultures and diminish human values. Koran preaches open killing of people who do not believe in islam. Blindly following anti-human koranic teachings muslims propogate anti-Hinduism. Anti-Hinduism is a negative perception or religious intolerance against the practice and practitioners of Hinduism. Anti-Hindu sentiments have been expressed by Muslims in Pakistan, Bangladesh and Malaysia, leading to significant persecution of Hindus in those regions. Since 900 years, over 1 billion Hindus were massacred by muslims in the name of jihad. That is the reason that famous Indian leaders, which appealed to global public too, had some pragmatic views on islam and muslims.

Famous Personalities on ‘Hatredness of Muslims toward Hindus’ and reasons for it …

माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर गुरू जी इस्लाम पे

माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर गुरू जी

पाकिस्तान बनने के पश्चात जो मुसलमान भारत में रह गए हैं क्या उनकी हिन्दुओं के प्रति शत्रुता , उनकी हत्या , लूट दंगे, आगजनी , बलात्कार , आदि पुरानी मानसिकता बदल गयी है , ऐसा विश्वास करना आत्मघाती होगा । पाकिस्तान बनने के पश्चात हिन्दुओं के प्रति मुस्लिम खतरा सैकड़ों गुणा बढ़ गया है । पाकिस्तान और बांग्लादेश से घुसपैठ बढ़ रही है । दिल्ली से लेकर रामपुर और लखनउ तक मुसलमान खतरनाक हथियारों की जमाखोरी कर रहे हैं । ताकि पाकिस्तान द्वारा भारत पर आक्रमण करने पर वे अपने भाइयों की सहायता कर सके ।

अनेक भारतीय मुसलमान ट्रांसमीटर के द्वारा पाकिस्तान के साथ लगातार सम्पर्क में हैं । सरकारी पदों पर आसीन मुसलमान भी राष्ट्र विरोधी गोष्ठियों में भाषण देते हें । यदि यहां उनके हितों को सुरक्षित नहीं रखा गया तो वे सशस्त्र क्रांति के खड़े होंगें ।

-बंच आफ थाट्स पहला आंतरिक खतरा मुसलमान पृष्ठ १७७-१८७

 

गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर इस्लाम पे

गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोरईसाई व मुसलमान मत अन्य सभी को समाप्त करने हेतु कटिबद्ध हैं । उनका उद्देश्य केवल अपने मत पर चलना नहीं है अपितु मानव धर्म को नष्ट करना है ।

मुसलमान अपनी राष्ट्र भक्ति गैर मुस्लिम देश के प्रति नहीं रख सकते । वे संसार के किसी भी मुस्लिम एवं मुस्लिम देश के प्रति तो वफादार हो सकते हैं परन्तु किसी अन्य हिन्दू या हिन्दू देश के प्रति नहीं ।

सम्भवतः मुसलमान और हिन्दू कुछ समय के लिए एक दूसरे के प्रति बनवटी मित्रता तो स्थापित कर सकते हैं परन्तु स्थायी मित्रता नहीं ।

– रवीन्द्र नाथ वाडमय २४ वां खण्ड पृच्च्ठ २७५ , टाइम्स आफ इंडिया १७-०४-१९२७ , कालान्तर

 

लाला लाजपत राय इस्लाम पे

लाला लाजपत रायमुस्लिम कानून और मुस्लिम इतिहास को पढ़ने के पश्चात मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि उनका मजहब उनके अच्छे मार्ग में एक रुकावट है ।

मुसलमान जनतांत्रिक आधार पर हिन्दुस्तान पर शासन चलाने हेतु हिन्दुओं के साथ एक नहीं हो सकते । क्या कोई मुसलमान कुरान के विपरीत जा सकता है ?

हिन्दुओं के विरूद्ध कुरान और हदीस की निषेधाज्ञा की क्या हमें एक होने देगी ? मुझे डर है कि हिन्दुस्तान के ७ करोड़ मुसलमान अफगानिस्तान , मध्य एशिया अरब , मैसोपोटामिया और तुर्की के हथियारबंद गिरोह मिलकर अप्रत्याशित स्थिति पैदा कर देंगें ।

-पत्र सी आर दास बी एस ए वाडमय खण्ड १५ पृष्ठ २७५

 

समर्थ गुरू राम दास जी इस्लाम पे

समर्थ गुरू राम दास जीछत्रपति शिवाजी महाराज के गुरू अपने ग्रंथ दास बोध में लिखते हैं कि मुसलमान शासकों द्वारा कुरान के अनुसार काफिर हिन्दू नारियों से बलात्कार किए गए जिससे दुःखी होकर अनेकों ने आत्महत्या कर ली ।

मुसलमान न बनने पर अनेक कत्ल किए एवं अगणित बच्चे अपने मां बाप को देखकर रोते रहे । मुसलमान आक्रमणकारी पशुओं के समान निर्दयी थे , उन्होंने धर्म परिवर्तन न करने वालों को जिन्दा ही धरती में दबा दिया ।

– डा एस डी कुलकर्णी कृत एन्कांउटर विद इस्लाम पृष्ठ २६७-२६८

 

राजा राममोहन राय मुसलमानो पे

राजा राममोहन रायमुसलमानों ने यह मान रखा है कि कुरान की आयतें अल्लाह का हुक्म हैं । और कुरान पर विश्वास न करने वालों का कत्ल करना उचित है ।

इसी कारण मुसलमानों ने हिन्दुओं पर अत्यधिक अत्याचार किए , उनका वध किया , लूटा व उन्हें गुलाम बनाया ।

-वाङ्मय-राजा राममोहन राय पृष्ट ७२६-७२७

श्रीमति ऐनी बेसेन्ट मुसलमानो पे

श्रीमति ऐनी बेसेन्टमुसलमानों के दिल में गैर मुसलमानों के विरूद्ध नंगी और बेशर्मी की हद तक तक नफरत हैं । हमने मुसलमान नेताओं को यह कहते हुए सुना है कि यदि अफगान भारत पर हमला करें तो वे मसलमानों की रक्षा और हिन्दुओं की हत्या करेंगे ।

मुसलमानों की पहली वफादार मुस्लिम देशों के प्रति हैं , हमारी मातृभूमि के लिए नहीं । यह भी ज्ञात हुआ है कि उनकी इच्छा अंग्रेजों के पश्चात यहां अल्लाह का साम्राज्य स्थापित करने की है न कि सारे संसार के स्वामी व प्रेमी परमात्मा का ।

स्वाधीन भारत के बारे में सोचते समय हमें मुस्लिम शासन के अंत के बारे में विचार करना होगा ।
– कलकत्ता सेशन १९१७ डा बी एस ए सम्पूर्ण वाङ्मय खण्ड, पृष्ठ २७२-२७५

 

स्वामी रामतीर्थ मुसलमानो पे

स्वामी रामतीर्थअज्ञानी मुसलमानों का दिल ईश्वरीय प्रेम और मानवीय भाईचारे की शिक्षा के स्थान पर नफरत , अलगाववाद , पक्षपात और हिंसा से कूट कूट कर भरा है ।

मुसलमानों द्वारा लिखे गए इतिहास से इन तथ्यों की पुष्टि होती है । गैर मुसलमानों आर्य खालसा हिन्दुओं की बढ़ी संख्या में काफिर कहकर संहार किया गया ।

लाखों असहाय स्त्रियों को बिछौना बनाया गया । उनसे इस्लाम के रक्षकों ने अपनी काम पिपासा को शान्त किया । उनके घरों को छीना गया और हजारों हिन्दुओं को गुलाम बनाया गया । क्या यही है शांति का मजहब इस्लाम ? कुछ एक उदाहरणों को छोड़कर अधिकांश मुसलमानों ने गैरों को काफिर माना है ।

– भारतीय महापुरूषों की दृष्टि में इस्लाम पृष्ठ ३५-३६

 

महर्षि दयानन्द सरस्वती मुसलमानो पे

महर्षि दयानन्द सरस्वतीइस मजहब में अल्लाह और रसूल के वास्ते संसार को लुटवाना और लूट के माल में खुदा को हिस्सेदार बनाना शबाब का काम हैं । जो मुसलमान नहीं बनते उन लोगों को मारना और बदले में बहिश्त को पाना आदि पक्षपात की बातें ईश्वर की नहीं हो सकती ।

श्रेष्ठ गैर मुसलमानों से शत्रुता और दुष्ट मुसलमानों से मित्रता , जन्नत में अनेक औरतों और लौंडे होना आदि निन्दित उपदेश कुएं में डालने योग्य हैं । अनेक स्त्रियों को रखने वाले मुहम्मद साहब निर्दयी , राक्षस व विषयासक्त मनुष्य थें , एवं इस्लाम से अधिक अशांति फैलाने वाला दुष्ट मत दसरा और कोई नहीं ।

इस्लाम मत की मुख्य पुस्तक कुरान पर हमारा यह लेख हठ , दुराग्रह , ईर्ष्या विवाद और विरोध घटाने के लिए लिखा गया , न कि इसको बढ़ाने के लिए । सब सज्जनों के सामन रखने का उद्देश्य अच्छाई को ग्रहण करना और बुराई को त्यागना है ।।

-सत्यार्थ प्रकाश १४ वां समुल्लास विक्रमी २०६१

 

स्वामी विवेकानन्द मुस्लिम पर

स्वामी विवेकानन्दऎसा कोई अन्य मजहब नहीं जिसने इतना अधिक रक्तपात किया हो और अन्य के लिए इतना क्रूर हो । इनके अनुसार जो कुरान को नहीं मानता कत्ल कर दिया जाना चाहिए । उसको मारना उस पर दया करना है ।

जन्नत (जहां हूरे और अन्य सभी प्रकार की विलासिता सामग्री है) पाने का निश्चित तरीका गैर ईमान वालों को मारना है । इस्लाम द्वारा किया गया रक्तपात इसी विश्वास के कारण हुआ है ।

-कम्प्लीट वर्क आफ विवेकानन्द वॉल्यूम २ पृष्ठ २५२-२५३

 

गुरु नानक देव जी मुस्लिम पर

गुरु नानक देव जीमुसलमान सैय्यद , शेख , मुगल पठान आदि सभी बहुत निर्दयी हो गए हैं ।

जो लोग मुसलमान नहीं बनते थें उनके शरीर में कीलें ठोककर एवं कुत्तों से नुचवाकर मरवा दिया जाता था ।

-नानक प्रकाश तथा प्रेमनाथ जोशी की पुस्तक पैन इस्लाममिज्म रोलिंग बैंक पृष्ठ ८०

महर्षि अरविन्द मुस्लिम पर

महर्षि अरविन्दहिन्दू मुस्लिम एकता असम्भव है क्योंकि मुस्लिम कुरान मत हिन्दू को मित्र रूप में सहन नहीं करता ।

हिन्दू मुस्लिम एकता का अर्थ हिन्दुओं की गुलामी नहीं होना चाहिए । इस सच्चाई की उपेक्षा करने से लाभ नहीं ।किसी दिन हिन्दुओं को मुसलमानों से लड़ने हेतु तैयार होना चाहिए । हम भ्रमित न हों और समस्या के हल से पलायन न करें ।

हिन्दू मुस्लिम समस्या का हल अंग्रेजों के जाने से पहले सोच लेना चाहिए अन्यथा गृहयुद्ध के खतरे की सम्भावना है । ।

-ए बी पुरानी इवनिंग टाक्स विद अरविन्द पृष्ठ २९१-२८९-६६६

 

सरदार वल्लभ भाई पटेल मुस्लिम पर

सरदार वल्लभ भाई पटेलमैं अब देखता हूं कि उन्हीं युक्तियों को यहां फिर अपनाया जा रहा है जिसके कारण देश का विभाजन हुआ था । मुसलमानों की पृथक बस्तियां बसाई जा रहीं हैं । मुस्लिम लीग के प्रवक्ताओं की वाणी में भरपूर विष है ।

मुसलमानों को अपनी प्रवृत्ति में परिवर्तन करना चाहिए । मुसलमानों को अपनी मनचाही वस्तु पाकिस्तान मिल गया हैं वे ही पाकिस्तान के लिए उत्तरदायी हैं , क्योंकि मुसलमान देश के विभाजन के अगुआ थे न कि पाकिस्तान के वासी ।

जिन लोगों ने मजहब के नाम पर विशेष सुविधांए चाहिंए वे पाकिस्तान चले जाएं इसीलिए उसका निर्माण हुआ है ।

वे मुसलमान लोग पुनः फूट के बीज बोना चाहते हैं । हम नहीं चाहते कि देश का पुनः विभाजन हो ।

-संविधान सभा में दिए गए भाषण का सार ।

बाबा साहब भीम राव अंबेडकर मुस्लिम पर

बाबा साहब भीम राव अंबेडकरहिन्दू मुस्लिम एकता एक अंसभव कार्य हैं भारत से समस्त मुसलमानों को पाकिस्तान भेजना और हिन्दुओं को वहां से बुलाना ही एक हल है । यदि यूनान तुर्की और बुल्गारिया जैसे कम साधनों वाले छोटे छोटे देश यह कर सकते हैं तो हमारे लिए कोई कठिनाई नहीं ।

साम्प्रदायिक शांति हेतु अदला बदली के इस महत्वपूर्ण कार्य को न अपनाना अत्यंत उपहासास्पद होगा । विभाजन के बाद भी भारत में साम्प्रदायिक समस्या बनी रहेगी ।

पाकिस्तान में रुके हुए अल्पसंख्यक हिन्दुओं की सुरक्षा कैसे होगी ? मुसलमानों के लिए हिन्दू काफिर सम्मान के योग्य नहीं है । मुसलमान की भातृ भावना केवल मुसमलमानों के लिए है । कुरान गैर मुसलमानों को मित्र बनाने का विरोधी है , इसीलिए हिन्दू सिर्फ घृणा और शत्रुता के योग्य है ।

मुसलामनों के निष्ठा भी केवल मुस्लिम देश के प्रति होती है । इस्लाम सच्चे मुसलमानो हेतु भारत को अपनी मातृभूमि और हिन्दुओं को अपना निकट संबधी मानने की आज्ञा नहीं देता । संभवतः यही कारण था कि मौलाना मौहम्मद अली जैसे भारतीय मुसलमान भी अपेन शरीर को भारत की अपेक्षा येरूसलम में दफनाना अधिक पसन्द किया । कांग्रेस में मुसलमानों की स्थिति एक साम्प्रदायिक चौकी जैसी है ।

गुण्डागर्दी मुस्लिम राजनीति का एक स्थापित तरीका हो गया है । इस्लामी कानून समान सुधार के विरोधी हैं । धर्म निरपेक्षता को नहीं मानते । मुस्लिम कानूनों के अनुसार भारत हिन्दुओं और मुसलमानों की समान मातृभूमि नहीं हो सकती । वे भारत जैसे गैर मुस्लिम देश को इस्लामिक देश बनाने में जिहाद आतंकवाद का संकोच नहीं करते ।

-प्रमाण सार डा अंबेडकर सम्पूर्ण वाग्मय , खण्ड १५१

Source: Cited reference books

Share on FacebookShare on Google+Share on RedditPin on PinterestTweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg thisShare on TumblrEmail this to someone

13 Responses to इस्लाम अधर्म की दरिंदगी पे महानतम लोगो की राय

  1. Danish says:

    Etni Bardi bardi Shaksyat or etni choti soch jaan k bardi hyrani Hui..I am Muslim .Mera man KY k aj shre krishan geeta pardhta Hun.BT en mahan logon ki choti soch ko pardh k dukh hua k HM bachpan c Jen ki khania kitabon me pardhte ay .
    Hme techer bolte the en k jyse bno..
    BT aj. Mai kahta Hun..Ek bhikari or pagal ko apna
    Adyl man le BT esi choti soch walon Mt bnay..
    Jise Kamyab or Eshwar k ache bande me shamil hona ho..AGR kisi sajjan ko enki choti soch k bare me Janna ho to mujh c puche…
    Jay Hind……….

    • haribol says:

      Radhe Radhe Danish ji,

      Jo sachai hai agar usko islamwale nahi samjhenge toh din dur nahi jab non-muslims log milkar islam ko duniya se mita denge. All ill-teachings highlighted by great personalities should be seriously thought upon, islamic rituals and teachings should be reformed without further delay. Or else expect self-destruction by your own people.

      Jai Shree Krishn

  2. Swati says:

    mere khayaal se bharat me fir se ek kranti shuru ho jani chahiye…..muslimo se aazadi n angrej jo chale gaye lekin apni chize chhodh gaye…….wo ab britain me baith kar bharat ko gulaam banaye hue hain …….pehle bharat me rahkar gulaam banaye hue the….chalo ab krantikari bane hum sab il kar…..

    • haribol says:

      Radhe Radhe Swati Ji,

      In dono se mukti ki kranti ki suruat ho chuki hai, kewal Hinduo ko ek joot ki deri hai. Individual level pe we have found millions of Hindus are ready to upsurge the movement.

      Jai Shree Krishn

  3. gaurav.punj says:

    me and Fiza Ali ( lived in new delhi and 19 years old girl) and had conversation Chat on Facebook

    me: i sad hindus drop below 80 percent of India’s population…i think india is still hindu nation…

    she : no,, it’s hindu and islam both

    me: muslim is just 14.2% lowest muslim population in india So? hindu 79.8% so still hindu nation…

    she: No… not confirmed yet….
    If it that will 3rd world war in india.
    And according to g.s. there is 37.5 % muslim 3 % sikhs 1.5 % christian and 58 % Hindus

    me: stop made fake story and rumors…..
    why india is called Hindu-stan (Hindustan) ?? why not Islami-stan (Islamistan) ??? you fool

    she; india is not hindu-stan.
    It is hind in language of Arabic.

    me: really? you have failed subject then Allah is also Arabic word lol allah = al-lah

    she: There is not national religion in india
    this is also our country

    me: let’s see on 2021 years’s population Result … if again grow 80% then it will back hindu nation in india…

    she : Hindu riligion is fake.
    Origina sanatan dharma is nt available.
    This hindu dharma is fake… cow is nothing,, just kill it or ate it

    me: really? wow you have sins and sinners… enjoy punishments in hell plants in thousand years lol and too much paining that nobody help you hehe…..

    she: you too

    me: me?? why me im good by heart and i don’t kill innocent animals and i give food for them,,,,

    even quran teaches made evil peoples and killing innocent animals and humans that busted Aurangzeb killed many cute indian peoples… you fool…. and i don’t know why mohammed married with 6 years Aisha and later raped…

    quran said Earth is not Round…… what the hell

    satellite took photo of Earth and see earth is round,.,,, you fool

    quran didn’t mention Venus, Jupiter cuz mohammed didnt knew that those plants lol but our Puranas mentions every planets

    Bible is NOT scientific it says world is mere 6000 years old. While in islam it is said that world will end by start of 15th century. Islam is more than 1400 years old, yes for islam it may end (due to terrorism and satanic teachings of fictional Quran) but world will not end for Hindus and Sanatan Dharmis. you fool….

    she: ok, i have to go, nice talk with you .. see you later 🙂

    me: bye..

    • gaurav.punj says:

      after me: hind word is not arabic word…. it’s hindi word hind

      she: Khwaja muinuddin chisti who promote islam in india was lived in iran.
      They named india ‘hind’ in arabic language hindi word is taken from the hind, because language of russia is called russia,language of spain is called spanish,turkey is called turkish, arab is called arabic, faras is called farasi, china is called chineis,
      so language of hind is called hindi.

      is that true ? can u explain me about Truth…

  4. gaurav.punj says:

    so do you know story about maharaj chand ke hath long hua when he catch 5 years little boy in the sky and horse and boy’s parents left from sky

  5. gaurav.punj says:

    do you know Guru Nanak dev’s son Maharaj Chand has 55% power and Chand’s younger brother’s son also has 50% power
    i was think that was lord shiva’s avatar or lord shiva became maharaj chand
    maharaj chand’s age 136 years ha..

  6. https://goo.gl/ qtwz3P *Sonia dynasty gadar parivar Yog day reality* https://goo.gl/ JPBIsX
    https://goo.gl/ awwPeh *35,985 people belonging to 84 nations joined the ‪#‎YogaDay‬ programme at Rajpath* https://goo.gl/ FkkBWJ
    https://goo.gl/ nqKfd *Hindu “Victim” Gandhiji 1926*
    https://goo.gl/ 9rtKct *Truth about Fathers day from West illegal-fathers*

    • haribol says:

      Radhe Radhe Mukesh Ji,

      Please read the complete post to know truth about death of Gandhi. Check here: http://haribhakt.com/nathuram-godse-ji-a-patriot-son-of-bharat-mata/

      Jai Shree Krishn

      • gaurav.punj says:

        do you know Guru Nanak dev’s son Maharaj Chand has 55% power and Chand’s younger brother’s son also has 50% power
        i was think that was lord shiva’s avatar or lord shiva became maharaj chand
        maharaj chand’s age 136 years ha..

        • haribol says:

          Radhe Radhe Gaurav Ji,

          No it is not so.

          Jai Shree Krishn

Leave Your Comment

122 queries in 4.702 seconds.